Header image  
Desire to Help  
  
 
 
 
 

Message of Principal

भरा नहीं है भावों से , जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं |
हृदय नहीं वह पत्थर है, जिन्हे बच्चों से प्यार नहीं ||

मैं अत्यंत हर्ष के साथ सभी का स्वागत करता हूँ | विद्यालय का गौरव बढाया है हमारा विद्यालय ने केवल भारत ही नहीं बल्कि विश्व में भी जगह बना ली है | यह सभी आई-आई-टी के पूर्व छात्रों के अथक प्रयास से संभव हो रहा है |

                        सं १९६५ के पायनियर बैच के एलुमनाई ने विद्यालय को नई-प्रेरणा नई दिशा एवं आर्थिक –सम्पन्नता प्रदान की है | इसके साथ बहुत से उदार – हृदय वाले इस प्रयास में सम्मलित होकर नई ऊचाईयाँ दे रही हैं|

                       आई-आई-टी के निदेशक महोदय, प्रशासन का मैं बहुत-बहुत आभारी हूँ | उनका सहयोग ही हमारे लिए सफलता बन जाती है |

                     विद्यालय के चेयरमैन डॉ हरीश चंद्र वर्मा जी जिनके प्रयास से विद्यालय चहुमुखी विकास कर रहा है , विद्यालय के पूर्व प्रधानाचार्य श्री आर एस श्रीवास्तव जी का अभूतपूर्व योगदान रहता है |

विद्यालय परिवार, विद्यालय के सभी सहयोगी जनो, सभी को ह्रदय से आभार व्यक्त करता हूँ | विद्यालय के छात्र/ छात्राएं अभिवावक जन सभी का आभारी हूँ जो विद्यालय से जुड़कर नई चेतना जागरण , एवं उदहारण प्रस्तुत कर रहे है |

सधन्यवाद !                     

           जे.पी .शर्मा
          प्रधानाचार्य

 
 

 
Upcoming Events